Tellurium homeopathy medicine uses | टेल्यूरियम 30, 200
tellurium 200 uses in hindi

Tellurium
टेल्युरियम

यह टेल्यूरियम नामक एक घातक धातु से बनाई जाती है।

कानों में मवाद होना, मवाद अगर पानी के तरह पतला है, उसमें तेज बदबू हो, मछली धोबन के तरह स्राव, जहाँ स्राव लगे वहां घाव हो जाये या वहां पका दे। कान के पीछे और सिर के पिछले भाग में  एक्जिमा आदि। पल्साटिला में मवाद गाढ़ा निकलता है।

चर्म रोग– गोलाकार दाद, हाथ पैरों में खुजली, दाढ़ी सेव करने के बाद या नाई के उस्तुरा इस्तेमाल के बाद खुजली (barber’s itch)। पैरों में दुर्गन्धित पसीना।

दाद या दाद की प्रकृति के किसी भी चर्म रोग में अगर काफी तेज खुजली रहे तो यह दवा का प्रयोग करना चाहिए।

तुलना करें – रेडियम ब्रोम,सीपिया, रस टॉक्स,  सेलेनियम

मात्रा –  6 से 1000 potency तक, असर देरी से होता है तथा लम्बे समय तक होता है। 

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published.